तीर्थ पुरोहितों को समर्थन देने केदारनाथ पहुंचे राष्ट्रवादी ब्राहमण महासंघ के पदाधिकारी

0 0
Read Time:4 Minute, 52 Second

harendra negi
चारधामों को पूंजीपतियों के हाथों बेचने का किया जा रहा खेल
राष्ट्रवादी ब्राहमण महासंघ के पदाधिकारियों ने तीर्थ पुरोहितों के साथ मिलकर लगाये सरकार के खिलाफ नारे
तीर्थ पुरोहितों का हनन कर रही केन्द्र और राज्य सरकार: भारद्वाज
रुद्रप्रयाग। देवस्थानम् बोर्ड को भंग करने और मास्टर प्लान के विरोध में धरने पर बैठे तीर्थ पुरोहितों के समर्थन में राष्ट्रवादी ब्राह्मण महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष केदारनाथ धाम पहुंचे। उन्होंने तीर्थ पुरोहितों को अपना समर्थन देते हुए कहा कि केन्द्र और राज्य की सरकार तीर्थ पुरोहितांे का हनन करने पर तुली है। हजारों सालों से चली आ रही परम्परा के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। यह सरासर तीर्थ पुरोहितों का घोर अपमान है, जिसे किसी भी कीमत पर बर्दाश्त नहीं किया जायेगा।
बता दें कि देवस्थानम् बोर्ड को भंग करने की मांग को लेकर केदारनाथ मंदिर प्रांगण में तीर्थ पुरोहित समाज का क्रमिक अनशन चल रहा है। क्रमिक अनशन के 51वें दिन राष्ट्रवादी ब्राह्मण महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंडित प्रवेश दत्त भारद्वाज, राष्ट्रीय उपाध्यक्ष पंडित अजय शर्मा एवं प्रदेश अध्यक्ष ब्राह्मण महासभा पंडित अरूण शर्मा केदारनाथ धाम पहंुचे और उन्होंने तीर्थ पुरोहितों को अपना पूर्ण समर्थन दिया। इस दौरान ब्राह्मण महासंघ के पदाधिकारी तीर्थ पुरोहितों के साथ धरने पर भी बैठे और केन्द्र व राज्य सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। इस मौके पर आयोजित सभा को संबोधित करते हुए राष्ट्रवादी ब्राह्मण महासंघ के राष्ट्रीय अध्यक्ष पंडित प्रवेश दत्त भारद्वाज ने कहा कि चारों धामों में देवस्थानम् बोर्ड का विरोध कर रहे तीर्थ पुरोहितों के साथ राष्ट्रवादी ब्राह्मण महासंघ का पूर्ण समर्थन है। उन्होंने कहा कि चारधामों में सरकार ने जिस प्रकार से देवस्थानम् बोर्ड को लागू किया है, यह सरासर अंधा कानून जैसा है। बिना तीर्थ पुरोहितों को विश्वास में लिए सरकार अपनी मनमानी करने में लगी हुई है। सरकार ने चारधामों को पूंजीपतियोें के हाथों बेच दिया है। मास्टर प्लान के तहत धामों में कार्य कर पौराणिक परम्पराओं के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि केन्द्र और राज्य सरकार बद्रीनाथ, केदारनाथ, गंगोत्री व यमुमोत्री धामों को प्राईवेट कंपनियों को बेचने का काम कर रही है। बड़े-बड़े व्यापारियों को मठ-मंदिरों को बेचने का षड़यंत्र रचा जा रहा है। हजारों सालों से तीर्थ पुरोहित धामों की सेवा करते आ रहे हैं और आज उनके हक-हकूकों के साथ इतना बड़ा खिलवाड़ करना, कहां तक उचित है। उन्होंने कहा कि राष्ट्रवादी ब्राह्मण महासंघ देवस्थानम् बोर्ड का घोर विरोध करता है और इसके लिए ब्राहमण महासंघ को जान भी देनी पड़े तो पीछे नहीं हटेंगे। केदारसभा के अध्यक्ष विनोद शुक्ला ने कहा कि सरकार बिना विश्वास में लिए धाम में कार्य कर रही है। धाम में धर्मशालाओं को तोड़कर उन पर कब्जा किया जा रहा है। तीर्थ पुरोहितों के समर्थन में सभी ब्राह्मण समाज के लोग खड़े हैं। जब तक सरकार देवस्थानम् बोर्ड को भंग कर मास्टर प्लान को खत्म नहीं करती, तब तक तीर्थ पुरोहितों का आंदोलन जारी रहेगा।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social profiles