Babri Masjid Structure Case: CBI अदालत सुनाने वाली है फैसला…

Babri Masjid Structure Case: CBI अदालत सुनाने वाली है फैसला…
0 0
Read Time:2 Minute, 23 Second

जहां एक ओर राम मंदिर (Ram Mandir) की नींव रख दी गई है। वहीं दूसरी ओर 6 दिसंबर 1992 को बाबरी मस्जिद (Babri Masjid) का ढांचा गिराने के मामले में आज फैसला आना है। ढांचा गिराने के लेकर जिन लोगों पर आरोप लगा था। उनमें लाल कृष्ण आडवाणी (Lal Krishan Adwani), मुरली मनोहर जोशी( Murli Manohar Joshi), उमा भारती (Uma Bharti) जैसी बड़े लोगों समते 48 लोग आरोपित थे। हालांकि इनमें से 16 की मृत्यु हो चुकी है। सीबीआई (CBI) की स्पेशल कोर्ट (Special Court) बाकी बचे 32 आरोपियों पर आज आज फैसला सुनाएगी।

दरअसल 6 दिसंबर 1992 को जब बाबरी मस्जिद के ढांचे पर लाखों कारसेवक चढ़ गए और उन्होंने वो विवादित ढांचा गिरा दिया। तो उसके बाद दो एफआईआर दर्ज हुई थी। एक एफआईआर एफआईआर मुकदमा संख्या 197/92 को प्रियवदन नाथ शुक्ल ने शाम 5:15 पर बाबरी मस्जिद ढहाने के मामले में तमाम अज्ञात लोगों के खिलाफ धारा 395, 397, 332, 337, 338, 295, 297 और 153ए में मुकदमा दर्ज किया। दूसरी एफआईआर मुकदमा संख्या 198/92 को चौकी इंचार्ज गंगा प्रसाद तिवारी की तरफ से आठ नामजद लोगों के खिलाफ दर्ज किया गया, जिसमें भाजपा के लालकृष्ण आडवाणी, उमा भारती, डॉ. मुरली मनोहर जोशी, तत्कालीन सांसद और बजरंग दल प्रमुख विनय कटियार, तत्कालीन वीएचपी महासचिव अशोक सिंघल, साध्वी ऋतंभरा, विष्णु हरि डालमिया और गिरिराज किशोर शामिल थे। इनके खिलाफ धारा 153ए, 153बी, 505 में मुकदमा लिखा गया। इसके बाद कई और भी मुकदमे इस मामले में दर्ज हुए थे। लेकिन ये सभी छोटे मोटे थे। ख़ास बात ये है कि जब मुकदमा दर्ज हुई था उसके सात दिनों के बाद ही मामला सीबीआई को दे दिया गया था। आज जो फैसला आना है उसपर पूरे देश की निगाहें लगी हुई हैं।

 

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social profiles