Corona Vaccine: भारत में जल्दी आएगी वैक्सीन

Corona Vaccine: भारत में जल्दी आएगी वैक्सीन
0 0
Read Time:4 Minute, 52 Second

कोरोना Corona महामारी को लेकर पीजीआई रोहतक PGI Rohtak में दूसरे फेस का को- वैक्सीन Vaccine ट्रायल खत्म तीसरा फेस का काम जल्द होगा शुरू।

पीजीआई रोहतक PGI Rohtak में पहले वैक्सीन का पहला और दूसरा फेज भी रहा सफल।

पहले फेस में देश भर में 18 से 55 वर्ष के 80 व दूसरे फेज में 50 लोंगो  पर हुआ था ट्रायल,पूरे देश मे 350 लोगो पर हुआ ट्रायल।

भारत बायोटेक Bharat Biotech की वैक्सीन पर पीजीआई में चल रहा है ट्रायल Trails।

कोरोना संक्रमण के खिलाफ वैक्सीन तैयार करने की मुहिम में लगी रोहतक पीजीआई की टीम को उम्मीद है इस साल के अंत तक को-वैक्सीन तैयार होकर मार्केट में आ जाएगी। क्योंकि पहले फेज का ट्रायल सफल रहा है और फिलहाल दूसरे फेज का ट्रायल पूरा हो चुका है जिसका परिणाम आना बाकी है । यही नही जल्द ही तीसरे फेस के ट्रायल की परमिशन भी मिलने वाली है। पूरे देश में दूसरे फेज का ट्रायल 350 वॉलिंटियर पर किया गया है लेकिन  पीजीआई में यह ट्रायल 50 वालिंटियर पर हुआ है। इस ट्रायल में नई बात यह रही है कि इस बार डायबिटीज व हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों को भी वैक्सीन के ट्रायल में शामिल किया गया था।

 देश में कोरोना संक्रमण बड़ी तेजी से बढ़ रहा है और हर रोज काफी संख्या में नए मरीज सामने आ रहे हैं। लेकिन को वैक्सीन के प्रथम चरण के ट्रायल सफल होने से यह उम्मीद जगी है ।  अब दूसरे फेस का ट्रायल  खत्म होने के बाद रिजल्ट अच्छे आने की उमीद है  अब देश में तीसरे फेज के ट्रायल की शुरुआत होनी है। दूसरे फेज के ट्रायल में 350 वॉलिंटियर्स पर यह ट्रायल किया गया। इस ट्रायल में आधे वालंटियर को 3 माइक्रोग्राम व आधे वालंटियर को 6 माइक्रोग्राम की डोज देकर ट्रायल किया गया।

पीजीआई के सीनियर प्रोफ़ेसर डॉक्टर रमेश वर्मा ने बताया की प्रथम चरण के नतीजे काफी बेहतर आए हैं और वॉलिंटियर में एंटीबॉडी लेवल भी काफी अच्छा है। अब दूसरा चरण भी खत्म हो गया है और अच्छे परिणाम आने की उमीद है क्योंकि अभी तक किसी भी वालंटियर को कोई दिक्कत नही हुई है हालांकि सभी वालंटियर पर नजर रखी जा रही हैं किसी को कोई दिक्कत नही है इस लिए उमीद है कि परिणाम अच्छे ही निकलेंगे लेकिन इसके परिणाम भारत बायोटेक ही जारी करेगा। रोहतक पीजीआई ने  50 वालंटियर पर यह ट्रायल किया है । दूसरे फेज के ट्रायल में 12 से 65 साल तक की उम्र के लोगों पर यह ट्रायल हुआ है। यही नहीं इस फेस में  डायबिटीज, हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों पर भी वैक्सीन का ट्रायल किया गया हैं। उन्होंने कहा कि तीसरे चरण के ट्रायल की अनुमति उन्हें नही मिली हैं लेकिन जल्द ही तीसरे चरण की अनुमति मिल जाएगी ।

साथ ही उन्होंने लोगों से आह्वान किया कि जिस तरह से कोरोनावायरस बढ़ रहा है, तो ऐसे में शोशल डिस्टेंस, मास्क व हाथ धोने की प्रक्रिया लोगों को लगातार जारी रखने की जरूरत है।

 डॉक्टर रमेश वर्मा ने बताया कि ह्यूमन बॉडी में ट्रायल करने से पहले जानवर पर ट्रायल किया जाता है । को वैक्सीन को पहले जानवरो पर लगाया जाता है जोकी अभी तक सफल रहा है उन्हें भी कोई दिक्कत नही हुई है ।

डॉ रमेश वर्मा प्रोफेसर मेडिसिन विभाग पीजीआई रोहतक ।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social profiles