Tourism: रुद्रप्रयाग जिले का प्रसिद्ध पर्यटक स्थल देवरियाताल इन दिनों बना है मनमोहक

Tourism: रुद्रप्रयाग जिले का प्रसिद्ध पर्यटक स्थल देवरियाताल इन दिनों बना है मनमोहक
0 0
Read Time:3 Minute, 46 Second

लाॅकडाउन (Lockdown) के बाद से ताल को निहारने नहीं पहुंचे हैं पर्यटक
देवरियाताल (Devriyataal) है पर्यटकों की पहली पंसदए वर्षभर आते हैं हजारों पर्यटक
हरेन्द्र नेगी
रुद्रप्रयाग – जनपद का प्रसिद्ध पर्यटक देवरियाताल को पर्यटकों का इंतजार है। देवरियाताल का दृश्य इन दिनों मनमोहक बना हुआ है। देवरियाताल रुद्रप्रयाग (Rudraprayag) पहुंचने वाले पर्यटकों की पहली पसंद है। देवरियाताल में वैसे तो वर्षभर पर्यटक आवाजाही करते रहते हैं। लेकिन लाॅकडाउन के कारण अभी तक पर्यटक यहां नहीं पहुंचे हैं। देवरियाताल की खूबसूरती को देखकर पर्यटक खुश हो जाते हैं। लाॅकडाउन से पहले बर्फबारी वाले सीजन में हजारों की संख्या में पर्यटक देवरियाताल का दीदार करने के लिये पहुंचे थे।
रुद्रप्रयाग जनपद तीर्थाटन के अलावा पर्यटन के क्षेत्र में महत्वूपर्ण स्थान रखता है। प्रसिद्ध पर्यटक स्थल तुंगनाथए चोपता.दुगलविटटा के अलावा यहां देवरियाताल भी स्थित है। देवरियाताल पर्यटक गांव सारी से तीन किमी दूर है। देवरियाताल चारों ओर से बांज.बुरांश के पेड़ों के अलावा बुग्यालों से घिरा हुआ है। ताल से चैखम्बा हिमालय को भी निहारा जा सकता है। हिमालय और आसमान की छाया जब ताल में पड़ती है तो पर्यटक आश्चार्यचकित हो जाते हैं। वैसे तो प्रत्येक वर्ष हजारों की संख्या में पर्यटक यहां पहुंचते हैंए लेकिन लाॅकडाउन और कोरोना वायरस के चलते इस वर्ष मार्च के बाद पर्यटक यहां नहीं पहुंचे हैं। अधिकांश पर्यटक गर्मियों के अलावा बर्फबारी के सीजन में यहां पहुंचते हैं। दिसम्बर.जनवरी माह में यहां पर्यटकों की भरमार रहती है। देवरियाताल से हजारों लोगों की आजीविका भी जुड़ी हुई है। कई लोग होटलए लाॅजए ढाबे इत्यादि का संचालन करके अपनी आजीविका चलाते हैं। गर्मियों के दौरान भी यहां पर्यटकों की भरमार हो जाती है। अधिकतर पर्यटक यहां सर्दियों के मौसम में बर्फबारी का आनंद लेने के लिये पहुंचते हैं।
इन दिनों देवरियाताल भव्य दिखाई दे रहा है। ताल पहुंचने में अब पर्यटकों को कोई परेशानी भी नहीं होगी। उत्तराखण्ड सरकार की गाइड लाइन के अनुसार कोविड 19 की रिपोर्ट के बगैर भी पर्यटक आ सकते हैं। हालांकि पर्यटकों को आॅनलाइन पंजीकरण जरूर कराना होगा।
वहीं जिलाधिकारी वंदना सिंह ने कहा कि कोविड की गाइड के अनुसार पर्यटन स्थलों को खोल दिया गया है। देवरियाताल का निरीक्षण किया गया है। स्वयं सहायता समूह की मदद से रोजगार की संभावनाओं को तलाशा जा रहा है। पर्यटन विभाग की ओर से सारी गांव को होम स्टे विलेज के रूप में चयनित करने के साथ ही कृषि विभाग के माध्यम से गांव को माॅडल विलेज के रूप में विकसित किया जा रहा है।


Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social profiles