देश की प्रीमियम दिल्ली यूनिवर्सिटी कैसे चलेगी, जब हजारों वैकेंसी पर नहीं हो रही भर्ती

देश की प्रीमियम दिल्ली यूनिवर्सिटी कैसे चलेगी, जब हजारों वैकेंसी पर नहीं हो रही भर्ती
0 0
Read Time:3 Minute, 58 Second

दिल्ली यूनिवर्सिटी देश की मानी हुई यूनिवर्सिटी मानी जाती है। इस यूनिवर्सिटी के तहत आने वाले कॉलेजों में हर साल देश और दुनिया तक के कई देशों के लाखों छात्र दाखिला लेने का सपना देखते हैं। लेकिन इस केंद्रीय यूनिवर्सिटी का हाल यह है कि आज की तारीख में हजारों एकेडमिक और नॉन एकेडमिक पद लंबे समय से खाली पड़े हैं।

डीयू में रजिस्ट्रार तक नहीं

किसी भी यूनिवर्सिटी में कुलपति के बाद उसका रजिस्ट्रार सबसे बड़ा पद होता है लेकिन दिल्ली यूनिवर्सिटी का यह हाल है कि वहां यह पद फरवरी 2020 से खाली पड़ा हुआ है इस पद को भरने के लिए विज्ञापन भी निकाला गया था यहां तक की इंटरव्यू की तारीख भी फिक्स हो गई थी लेकिन बाद में उसे रद्द कर दिया गया।

हर महीने कम हो रहे हैं कर्मचारी

दिल्ली यूनिवर्सिटी में हर महीने कर्मचारी कम हो रहे हैं यानी वे रिटायर हो रहे हैं लेकिन उनकी जगह नई भर्तियां नहीं हो पा रही हैं। यूनिवर्सिटी के सबसे अहम विभाग माने जाने वाले परीक्षा व डिग्री विभाग में कर्मचारियों की सबसे ज्यादा कमी है। परीक्षा विभाग ही छात्रों का एग्जाम लेता है और इसमें कर्मचारियों की कमी बताती है कि यूनिवर्सिटी में किस हालत में एग्जाम लिए जा रहे हैं।

इंटरनल कोटा के पद भी खाली

यूनिवर्सिटी के विभागों में लगभग एक दर्जन से ज्यादा सहायक कुलसचिव आंतरिक कोटा यानी इंटरनल कोटा के पद खाली पड़े हैं लेकिन इन्हें भरा नहीं गया है।

डीयू एकेडमिक काउंसिल के एक्स मेंबर हंसराज सुमन कहते हैं कि इंटरनल कोटे के दर्जन भर से ज्यादा यह पदें 2014 के बाद से उन पर कोई टेस्ट नहीं हुआ है जबकि यूनिवर्सिटी के पास पूर्ण योग्यता वाले यानी फूल एलिजिबिलिटी वाले उम्मीदवार है।

बड़े अफसरों के अहम पद खाली

डीयू के डिप्टी रजिस्ट्रार और ज्वाइंट रजिस्ट्रार के 9 पद भी बहुत लंबे समय से खाली पड़े हुए हैं प्रोफेसर सुमन के अनुसार डीयू के विभागों में 3280 स्वीकृत पद है जबकि सिर्फ 1512 पद ही भरे हुए हैं, बाकी के 1 768 पदों पर कोई नियुक्तियां नहीं है। इसके अलावा विभागों के कर्मचारियों के पद भी अरसे से खाली है।

डीयू आखिर क्यों प्रीमियम ?

डीयू आखिर देश भर में क्यों प्रीमियम माना जाता हैं क्योंकि इसके अंडर में जो कॉलेज आते हैं वह देश ही नहीं बल्कि दुनिया के टॉप कॉलेजों में से एक हैं हिंदू कॉलेज, किरोड़ीमल कॉलेज, वेंकटेश कॉलेज, मिरांडा कॉलेज, दौलत राम, सेंट स्टीफेंस आदि बहुत सारे ऐसे कॉलेज में एडमिशन लेने का सपना लेकर छात्र हर साल इसमें अप्लाई करते हैं और कुछ ही छात्रों का यह सपना पूरा हो पाता है। अमिताभ बच्चन शाहरुख खान अरुण जेटली जैसे तमाम बड़े नाम है जो यहां से पढ़ चुके हैं।

——

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social profiles