Laloo Yadav: लालू को एक और मामले में मिली जमानत, पर रहेंगे जेल में ही..

Laloo Yadav: लालू को एक और मामले में मिली जमानत, पर रहेंगे जेल में ही..
0 0
Read Time:3 Minute, 50 Second

राष्ट्रीय जनता दल (RJD) के अध्यक्ष और बिहार (Bihar) के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव (Laloo Prasad Yadav) को चारा घोटाले से जुड़े एक और मामले में शुक्रवार को झारखंड उच्च न्यायालय (Jharkhand High Court) से जमानत मिल गई। हालांकि एक अन्य मामले में जमानत नहीं मिलने की वजह से फिलहाल उन्हें जेल में ही रहना होगा और उनकी रिहाई नहीं होगी। जानकारी के मुताबिक, अंतिम मामले में जमानत एक महीने बाद मिलेगी। सभी मामलों में उन्हें जमानत आधी सजा जेल में काटने की वजह से मिल रही है। बिहार में होने वाले विधानसभा चुनाव के मद्देनजर उनके द्वारा चुनाव प्रचार किए जाने की अटकलें लगाई जा रही थी जिसपर एक तरह से विराम लग गया है।

 बिहार चुनावों के बीच में लालू यादव को जेल से रिहा कराने की RJD की कोशिशों को झटका लगा है। चाईबासा कोषागार से अवैध निकासी के मामले में लालू यादव को जमानत तो मिल गई है। लेकिन फिलहाल वो जेल से छूट नहीं पाएंगे। हालांकि उन्होंने सजा की आधी अवधि तो काट ली है। लेकिन बाकी चार मामलों में अलग अलग सज़ा मिली हुई है। इसलिए एक मामले में जमानत मिलने पर भी वो जेल से बाहर नहीं आ पाएंगे।

दरअसल लालू और आरजेडी चाहत हैं कि चुनावों में लालू यादव पार्टी का प्रचार कर पाएं या फिर चुनावों की देखरेख कर पाएं। इसलिए लालू की जमानत की कोशिशें चल रही हैं। इसके लिए लालू यादव ने अपनी गिरती सेहत का हवाला भी कोर्ट में दिया है। लेकिन परेशानी इस बात की है कि लालू को चार मामले में सजा सुनाई गई है। सभी मामलों की सजा अलग-अलग चल रही है। जब तक संबंधित अदालत सभी सजा एक साथ चलने का आदेश नहीं दे देती, तब तक सजा अलग-अलग ही चलेंगी। सभी मामलों में आधी सजा काटने के बाद उन्हें जमानत मिल सकती है। इसी तर्क के आधार पर सीबीआई ने लालू को जेल से बाहर आने से रोक दिया।

हालांकि लालू काफी समय से जेल में नहीं बल्कि अस्पताल में रह रहे हैं। झारखंड की हेमंत सोरेन सरकार से लालू का मदद मिलती रही है। लेकिन बिहार चुनावों में झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) को सीट नहीं देने के बाद इसपर भी सवाल खड़े हो गए हैं। अब जेएमएम बिहार चुनाव में अकेले दम पर चुनाव लड़ रही है। लालू कहां रहेंगे, इसपर झारखंड मुक्ति मोर्चा (JMM) के मुख्य प्रवक्ता सुप्रियो भट्टाचार्य ने बुधवार को साफ किया कि लालू प्रसाद यादव कहां रहेंगे, कहां नहीं, इसका फैसला उनकी पार्टी नहीं करती है बल्कि इसका फैसला जेल प्रशासन एवं रिम्स प्रबंधन करेगा।
इससे पहले लालू को अस्पताल में सारी सुविधाएं मिल रही थीं। लेकिन आरजेडी ने उन्हें गठबंधन के तौर पर एक भी सीट नहीं दी। इसके बाद जेएमएम अकेले चुनाव लड़ने जा रही है।

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social profiles