कोरोना ने रेलवे को पहुंचाया भारी घाटा……

कोरोना ने रेलवे को पहुंचाया भारी घाटा……
0 0
Read Time:2 Minute, 25 Second

कोरोना वायरस के चलते भारतीय रेल को वो करना पड़ा है जो आजतक नहीं हुआ है। रेलवे को सिर्फ टिकट रद्द करने से ही 2727 करोड़ रूपये यात्रियों को वापस करने पड़े हैं। पहले से ही घाटे में चल रही रेलवे को कैश वापस करना काफी बड़ा झटका है। रेलवे ने कोरोना वायरस के कारण इस साल मार्च से 1.78 करोड़ से ज्यादा टिकट रद्द किए। सूचना का अधिकार (आरटीआई) के तहत मिले जवाब के मुताबिक इस दौरान रेलवे ने 1,78,70,644 टिकट रद्द किए।
रेलवे ने 25 मार्च से ही अपनी यात्री ट्रेन सेवाएं स्थगित कर दी थी। पहली बार रेलवे को टिकट बुकिंग से जितनी आमदनी हुई उससे ज्यादा रकम वापस की गयी है। वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में रेलवे को 1066 करोड़ रुपये राजस्व घट गया।
ऐसा पहली बार हुआ है जब रेलवे को टिकट बेचने से जितनी आय हुई, उससे ज्यादा उसने रकम वापस किया है। एक अधिकारी ने इस बारे में बताया कि सेवाओं के स्थगित होने के कारण अप्रैल, मई और जून के लिए बुक टिकट की राशि वापस की गयी जबकि इन तीन महीनों के दौरान कम टिकट बुक हुए थे । हालांकि आम दिनों में ये तीनों महीने रेलवे में टिकट की मारामारी रहती है। इस दौरान रेलवे का अप्रैल में 531.12 करोड़ रुपये, मई में 145.24 करोड़ रुपये और जून में 390.6 करोड़ रुपये का राजस्व घट गया। वित्त वर्ष 2019-20 की पहली तिमाही में रेलवे को अप्रैल में 4,345 करोड़ रुपये, मई में 4,463 करोड़ रुपये और जून में 4,589 करोड़ रुपये की आय हुई थी। मध्य प्रदेश के चंद्रशेखर गौड़ द्वारा दाखिल आरटीआई के जवाब में रेलवे ने कहा कि कोविड-19 के कारण बंद ट्रेनों के टिकट रद्द करने के लिए कोई शुल्क नहीं काटा गया.

Happy
Happy
0 %
Sad
Sad
0 %
Excited
Excited
0 %
Sleepy
Sleepy
0 %
Angry
Angry
0 %
Surprise
Surprise
0 %

Average Rating

5 Star
0%
4 Star
0%
3 Star
0%
2 Star
0%
1 Star
0%

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Social profiles